Welcome to Dadashrie Foundation
 
book appointment +91 97 374 11 111
we are in Gujarat, India
consultation 10:00am to 5:00pm

महाशिवरात्री महायज्ञ

शिवरात्री को शिवतत्त्व प्रबल रहता है। वैसे शिवरात्री तो हर महिने में आती है, लेकिन महाशिवरात्री वर्ष में एकही बार आती है। महाशिवरात्री को शिवतत्त्वका प्राबल्य अधिकतम, उच्चतम रहता है। महाशिवरात्री को शिवलिंग की भक्तीभाव से पूजा करनेसे सहजही शिवकृपा प्राप्त हो सकती है। शिवलिंग मिट्टी, रेती तथा विविध धातुओंसे बनता है। लेकिन पारद शिवलिंग का महत्त्व अलौकिक है। भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगो के दर्शन पूजन अर्चन का जो फल कहा गया है उतना ही फल केवल एक पारद ज्योतिर्लिंग पूजन करने से मिलता है। पारद शिवलिंग स्वयं शिवस्वरूप है। इसकी नित्य आराधना करनेवाले भक्त को मोक्ष अनायसही मिल जाता है। रोला स्थित आश्रम में 13/02/2018 को हवन मार्जन के साथ पारद शिवलिंग का महापूजन संप्पन्न हुआ। इस अवसर पर 11000 यज्ञकुंड की व्यवस्था की गईं थी। यज्ञ सहभागीयों के साथ साथ दर्शन अभिलाषी अन्य शिवभक्तों की भारी भीड़ उमड पडी थी। सारा परिसर शिव तत्त्व से ओतप्रोत हो गया था। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी भक्तों ने विदा लेते हुए धन्यता का भाव प्रकट किया।